रूसः शोइगु की जगह आंद्रेई बेलोसाउ नए रक्षा मंत्री बनाए गए

रूसः शोइगु की जगह आंद्रेई बेलोसाउ नए रक्षा मंत्री बनाए गए इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप...

रूसः शोइगु की जगह आंद्रेई बेलोसाउ नए रक्षा मंत्री बनाए गए

रूसः शोइगु की जगह आंद्रेई बेलोसाउ नए रक्षा मंत्री बनाए गए

इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप में बाढ़ से 37 लोगों की मौत

भारत से मिले हेलीकॉप्टर को उड़ाने के लिए मालदीव के पास सक्षम पायलट नहीं

मॉस्को,
 रूस-यूक्रेन सैन्य संघर्ष के बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने अहम प्रशासनिक फेरबदल करते हुए सर्गेई शोइगु को देश के रक्षा मंत्री के पद से हटा दिया है। उनकी जगह आंद्रेई बेलोसाउ को देश का नया रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया है।

क्रेमलिन की तरफ से जारी की गई जानकारी के मुताबिक सर्गेई शोइगु के स्थान पर आंद्रेई बेलोसाउ को देश का नया रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया है। दरअसल, राष्ट्रपति चाहते हैं कि 2012 से रक्षामंत्री और लंबे समय से पुतिन के सहयोगी रहे सर्गेई शोइगु निवर्तमान निकोलाई पेत्रुशेव की जगह रूस की शक्तिशाली सुरक्षा परिषद् के सचिव बनें और मिलिट्री-इंडस्ट्रीयल कॉम्प्लेक्स की जिम्मेदारी भी संभालें। जनरल स्टाफ के प्रमुख वालेरी गेरासिमोव और देश के अनुभवी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव अपने पद पर बने रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि 65 वर्षीय आंद्रेई बेलोसाउ पूर्व उप प्रधानमंत्री रह चुके हैं। वे आर्थिक मुद्दों पर राष्ट्रपति पुतिन के सहायक, रूसी फेडरेशन के आर्थिक विकास मंत्री, रूसी सरकार के अर्थशास्त्र एवं वित्त विभाग के निदेशक के तौर पर काम कर चुके हैं।

जबकि 68 वर्षीय सर्गेई शोइगु को पुतिन का करीबी समझा जाता है। वे बिना किसी सैन्य अनुभव के 2012 से रक्षा मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहे थे। पेशे से सिविल इंजीनियर शोइगु को 1990 में आपातकालीन और आपदा राहत मंत्रालय का हेड चुना गया।

इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप में बाढ़ से 37 लोगों की मौत

पडांग,
 इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप पर भारी बारिश और अचानक बाढ़ आ जाने से कम से कम 37 लोगों की मौत हो गई और 12 से अधिक लोग लापता हैं। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रवक्ता अब्दुल मुहारी ने कहा कि मॉनसून की बारिश और माउंट मारापी की ठंडे लावे वाली ढलानों से कीचड़ के प्रवाह से हुए भूस्खलन के कारण शनिवार मध्यरात्रि को एक नदी में उफान के कारण पश्चिम सुमात्रा प्रांत के चार जिलों के कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए। उन्होंने बताया कि कई लोग बाढ़ में बह गए और 100 से अधिक घर और इमारतें जलमग्न हो गईं। ठंडा लावा, ज्वालामुखीय सामग्री और मलबे का मिश्रण है जो बारिश में ज्वालामुखी की ढलानों से बहता है।

राष्ट्रीय तलाश एवं बचाव एजेंसी ने एक बयान में कहा कि रविवार दोपहर तक बचावकर्मियों ने अगम जिले के सबसे अधिक प्रभावित कैंडुआंग गांव में 19 शव बरामद किये और पड़ोसी जिले तनाह दातर में नौ अन्य शव बरामद किए गए हैं। एजेंसी ने कहा कि पडांग में आई भीषण बाढ़ के कारण आठ लोगों की मौत हो गई। इसमें कहा गया है कि बचावकर्मी 18 लापता लोगों की तलाश कर रहे हैं।

 

भारत से मिले हेलीकॉप्टर को उड़ाने के लिए मालदीव के पास सक्षम पायलट नहीं

माले
 मालदीव को भारत से मिले हेलीकॉप्टर को उड़ाने को लेकर संकट खड़ा हो गया है। इसका कारण मालदीव के पास सक्षम पायलट की कमी होना है। ज्ञात रहे कि हाल ही में भारत के 76 रक्षा कर्मियों की अंतिम खेप के साथ मालदीव छोड़ दिया है। इसकी पुष्टि रक्षा मंत्री घासन मौमून ने की है।

घासन मौमून ने यहां राष्ट्रपति कार्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में यह टिप्पणी की। उन्होंने दो हेलीकॉप्टर और एक डोर्नियर विमान संचालित करने के लिए मालदीव में तैनात भारतीय सैनिकों की वापसी और उनके स्थान पर भारत के असैनिकों के आने से जुड़े सवाल पर यह टिप्पणी की। घासन ने कहा कि मालदीव राष्ट्रीय रक्षा बल (एमएनडीएफ) के पास मालदीव का कोई सैन्यकर्मी नहीं है जो भारतीय सेना द्वारा दान में दिए गए तीन विमानों को संचालित कर सके।

हालांकि कुछ सैनिकों को पिछली सरकारों के समझौतों के तहत उड़ान का प्रशिक्षण देना शुरू किया गया था। चीन समर्थक नेता माने जाने वाले मुइज्जू द्वारा 10 मई तक मालदीव में तीन विमानन प्लेटफॉर्म का संचालन करने वाले सभी भारतीय सैन्य कर्मियों को वापस भेजने पर जोर देने के बाद दोनों देशों के संबंधों में गंभीर तनाव पैदा हो गया। भारत पहले ही 76 सैन्य कर्मियों को वापस बुला चुका है।